PATNA (MR) : पूरी दुनिया आज एक दिसंबर को विश्व एड्स दिवस (World AIDS Day) मना रही है। एड्स के खिलाफ लोगों को जागरूक कर रही है। इस बीमारी के खिलाफ बिहार के लोगों को जगाने के लिए आज बुधवार को पटना सुबह-सुबह खूब दौड़ा। पटना के गांधी मैदान से राजभवन तक युवाओं ने दौड़ लगायी। 

पटना के गांधी मैदान में मौजूद युवा सेलिब्रेटी रूपम त्रिविक्रम ने बताया कि बताया कि इस बीमारी के खिलाफ लोगों को जागरूक करना क्यों जरूरी है। उन्होंने बताया कि विश्व एड्स दिवस हर साल एक दिसंबर को मनाया जाता है। पहली बार यह 1988 में मनाया गया था। विश्व एड्स दिवस मनाने की वजह HIV या एड्स के प्रति लोगो को जागरुक करना और इससे ग्रसित लोगों की मदद करना था। 

दरअसल, HIV (ह्यूमन इम्युनोडेफिशिएंसी वायरस) एक ऐसा वायरस है, जो शरीर में हमला कर इम्यून सिस्टम को बिगाड़ देता है। इम्यून सिस्टम के कमजोर होने के कारण ही आज कोरोना का खामियाजा लोगों को भुगतना पड़ा है। 

रूपम ने बताया कि हर साल विश्व एड्स दिवस की थीम अलग-अलग तय की जाती है। साल 2021 की थीम ‘असमानताओं को समाप्त करें. एड्स खत्म करें’ है। विश्व एड्स दिवस के दिन लोग जागरुकता फैलाने के लिए एक-दूसरें को मैसेज, कोट्स आदि शेयर करें। इससे आप अपने दोस्तों को इस जानलेवा बीमारी के प्रति सचेत कर सकते हैं। उन्हें संकट से बचा सकते हैं। 

योग ट्रेनर पूनम कुमारी ने बताया कि बेहतर स्वास्थ्य के लिए जरूरी है सही खानपान और योग, जिससे हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता विकसित होती है। हमारा शरीर सुडौल और स्वस्थ रहता है। सभी प्रकार की बीमारियों से लड़ने की क्षमता हमारे शरीर में विकसित होती है। आज विश्व एड्स दिवस के अवसर पर हम संकल्प करें कि हम प्रतिदिन कम से कम अपने लिए आधा घंटा जरूर निकालेंगे और  कोई भी शारीरिक गतिविधि या खेलकूद जरूर करेंगे।

Previous articleBook Review : यह मार्मिक कहानी है टीटू की, पहाड़ों पर के एक लड़के की; माँ-बहन-बाबा से बिछड़ने की
Next articleBihar Mukhiya Chunav 2021 : बिहार पंचायत चुनाव में ‘चांदी’ की परिधि गुप्ता बनीं ‘सोना’, नीदरलैंड में भी कर चुकी है काम

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here