DELHI (MR) : उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव (UP Assembly Election 2022) समय पर कराए जाएंगे। इसके साथ ही पंजाब, उत्तराखंड, गोवा और मणिपुर में भी समय पर ही चुनाव होने की उम्मीद है। आज गुरुवार को लखनऊ में निर्वाचन आयोग की ओर से आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में इसके संकेत मिले हैं। 

मुख्य चुनाव आयुक्त सुशील चंद्रा ने कहा, ‘सभी राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों ने हमसे मुलाकात की और हमें बताया कि सभी COVID19 प्रोटोकॉल का पालन करते हुए समय पर चुनाव कराए जाने चाहिए।’ उन्होंने कहा कि इस चुनाव में सुबह आठ बजे से लेकर शाम छह बजे तक वोटिंग होगी।

दरअसल, दिल्ली समेत अन्य राज्यों में कोरोना और उसके नए वैरिएंट ओमिक्रॉन का संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है। इसे देखते हुए चुनाव आयोग ने मतदान वाले राज्यों में कोविड -19 स्थिति का आकलन करने के लिए सोमवार को बैठक की थी। केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण को इन राज्यों में वैक्सीन की दूसरी खुराक के प्रशासन में तेजी लाने के लिए कहा था। इसके बाद आज गुरुवार को चुनाव आयोग ने मीडिया को संबोधित किया। 

उन्होंने यह भी कहा, ‘राजनीतिक दलों से चर्चा के बाद सभी एसपी, डीआइजी, कमिश्ननर से मिलकर हालात का जायजा लिया गया। इसके बाद सभी नोडल अधिकारियों से चर्चा की हुई। UP के मुख्य सचिव, डीजीपी और अन्य अधिकारियों से भी बातचीत हुई। सभी राजनीतिक दलों ने कोविड प्रोटोकॉल का पालन करते हुए निश्चित समय पर चुनाव कराने की मांग की। कुछ दलों ने कोविड प्रोटोकॉल के बिना पालन किए होने वाली रैलियों पर चिंता जताई।’ उन्होंने कहा कि पूरे प्रोटोकॉल के साथ राज्य में विधानसभा चुनाव कराए जाएंगे। पांच जनवरी तक फाइनल वोटर लिस्ट सार्वजनिक कर दी जाएगी।

चुनाव आयोग के प्रेस कॉन्फ्रेंस की खास बातें :

  • चुनाव को लेकर राजनीतिक पार्टियों से बात हुई। सभी राजनीतिक पार्टियां समय पर विधानसभा चुनाव चाहती हैं।
  • सभी राजनीतिक पार्टियों ने चुनाव आयोग से मांग की है कि विधानसभा चुनाव कोविड प्रोटोकॉल के साथ तय समय पर हों।
  • ज्यादा से ज्यादा लोग चुनावी प्रक्रिया का हिस्सा बनें।
  • यूपी में करीब 15 करोड़ वोटर की संख्या।  52 लाख से ज्यादा नए वोटर्स जुड़े हैं। 
  • 800 पोलिंग स्टेशन पर होगी महिला पोलिंग अधिकारी की तैनाती।
  • 5 जनवरी तक जारी होगी फाइनल मतदाता सूची।
  • बुजुर्गों-दिव्यांगों को घर पर वोटिंग की सुविधा।
  • रैलियों की संख्या और रैलियों में संख्या सीमित करने का सुझाव।
  • यूपी में पोलिंग बूथ की संख्या 11 हजार तक बढ़ायी जाएगी।
  • वोटिंग के लिए 11 दस्तावेज मान्य होंगे। साथ ही वोटिंग का समय सुबह आठ बजे से लेकर शाम छह बजे तक होगा।
Previous articleअंकित यदुवंशी बने सबसे कम उम्र के प्रखंड प्रमुख, 24 की उम्र में उपलब्धि
Next articleबिहार में भी आ गया Omicron, पटना में मिला पहला संक्रमित; पूरे देश में संख्या 1000 के पार

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here