फिरोजाबाद (उत्तर प्रदेश)। उत्तर प्रदेश सरकार मनरेगा कार्यों पर विशेष ध्यान दे रही है। सरकार से आदेश मिलने के बाद फिरोजाबाद में मनरेगा का काम शुरू कर दिया गया है। बताया जाता है कि मनरेगा कार्यों के दौरान मजदूर सोशल डिस्टेंसिंग का भी बखूबी पालन कर रहे हैं। फिरोजाबाद की 195 पंचायतों में दो हजार से अधिक मजदूरों ने मनरेगा के तहत काम किया। पंचायत सेवकों व रोजगार सेवकों को स्पष्ट कहा गया है कि कोरोना संकट को देखते हुए सोशल डिस्टेंसिंग में किसी तरह की कोताही नहीं करें। जान है तो जहान है।

फिरोजाबाद की मुख्य विकास अधिकारी नेहा जैन की मानें तो मनेरगा को लेकर शासन का आदेश आ गया था। इसके बाद बुधवार 6 मई से ही मनरेगा कार्य प्रारंभ कर दिया गया है। पहले दिन 149 ग्राम पंचायतों में मनरेगा कार्य शुरू किया गया था। इसके बाद गुरुवार को 195 ग्राम पंचायतों में कार्य शुरू हुआ। पंचायतों में मनरेगा के तहत नाला सफाई, चकरोड निर्माण, तालाब सफाई सहित अन्य कार्य कराए जा रहे हैं।

नेहा जैन के अनुसार, ग्राम पंचायतों का विकास ही सरकार की प्राथमिकता में है। वहीं, कोरोना संकट को देखते हुए कार्यस्थल सोशल डिस्टेंसिंग के तहत ग्राम प्रधान, पंचायत सचिव एवं रोजगार सेवकों से कहा गया है कि वे मजदूरों को साबुन, पानी एवं सेनेटाइजर उपलब्ध कराएं। साबुन देने का मेन मकसद है कि मजदूर हर घंटे – दो घंटे पर साबुन से हाथ धो सके।

Previous articleऔरंगाबाद में महिला मुखिया पर जानलेवा हमला, दोनों पक्षों की ओर से FIR दर्ज
Next articleआरक्षण पर बिहार में केंद्र के खिलाफ मोर्चाबंदी शुरू, SC-ST के 22 MLA आए एक मंच पर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here