PATNA (MR) : बिहार में दूध-दही तो छोड़िए जनाब! अब तो पनीर-पेड़ा व रसगुल्ला भी उछलने लगे हैं। पॉकेट के बढ़ते बजट ने इनकी मिठास को ‘कड़वा’ बना दे रहा है। दरअसल, छठ पूजा के पारण के दिन यानी 11 नवंबर से कॉम्फेड ने सुधा दूध की कीमतों में इजाफा कर दिया है। इसके साथ ही कई अन्य मिल्क प्रोडक्ट्स के दाम भी बढ़ा दिये गए हैं। 

कॉम्फेड के नए रेट के अनुसार, दूध के अलावा पनीर, पेड़ा और गुलाब जामुन के भी दाम बढ़ा दिये गये हैं। हलांकि कहने को दही-लस्सी के दाम नहीं बढ़ाए गए हैं। यह ठीक है कि दही-लस्सी खरीदने पर बजट नहीं भागेगा। लेकिन जो लोग दूध से दही या लस्सी बनाएंगे, उन्हें तो वजन व रेंज के हिसाब से महंगा पड़ेगा। 

दूध के अलावा पनीर से लेकर पेड़ा, गुलाब जामुन, बालूशाही, मिल्क केक की कीमतों में भी इजाफा किया गया है। सुधा दूध आज से प्रति लीटर तीन से चार रुपये महंगा हो गया। सुधा का फुल क्रीम वाला गोल्ड अब 56 रुपये लीटर मिल रहा है। सुधा गोल्ड पहले 52 रुपये में उपलब्ध था। स्टैंडर्ड मिल्क अब 49 रुपये प्रति लीटर, काऊ मिल्क 46 रुपये प्रति लीटर की दर से मिल रहा है। सुधा ने अपने दूसरे मिल्क प्रोडक्ट की कीमतों में इजाफा किया है। 

कॉम्फेड के मुताबिक, 200 ग्राम वाले पनीर का पैकेट अब 75 रुपये में ग्राहकों को मिल रहा है। पहले इसकी कीमत 70 रुपये थी। सुधा ने पनीर की कीमतों में प्रति 200 ग्राम 5 रुपये का इजाफा किया है। इसी तरह 250 ग्राम पेड़ा और मिल केक के पैकेट की कीमतों में 8 रुपये का इजाफा किया गया है। पहले इसकी कीमत 100 रुपये थी, अब 108 रुपये हो गई है। एक किलो गुलाब जामुन अब 10 रुपये ज्यादा महंगा हो गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here