PATNA (APP) : बिहार में 9 अप्रैल को काफी बड़ा ‘पॉलिटिकल इवेंट’ हुआ। लालू यादव और राबड़ी आवस पर दावत-ए-इफ्तार का आयोजन किया गया। इसमें मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, जेडीयू के ललन सिंह, पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी, जाप सु्प्रीमो पप्पू यादव से लेकर लोजपा रामविलास पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान तक शामिल हुए। कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अखिलेश सिंह भी अपने विधायकों के साथ पहुंचे हुए थे। वामदलों के विधायक इफ्तार पार्टी में शामिल हुए। कहा जाता है कि चिराग पासवान ने तो राबड़ी देवी से काफी देर तक बात भी की। आगत अतिथियों का उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव और राबड़ी देवी ने गर्मजोशी के साथ स्वागत किया। नेताओं के अलावा काफी संख्या में रोजेदार भी पहुंचे थे। खास बात कि चिराग पासवान ने नीतीश कुमार व राबड़ी देवी के पैर छूकर प्रणाम किया।

तेजस्वी यादव ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को टोपी पहनाकर एवं गमछा ओढ़ाकर स्वागत किया। उन्होंने बाकी नेताओं का भी जोरदारढंग से स्वागत किया। इसके साथ ही उन्होंने मीडिया से बात करते हुए दंगाइयों व फसादियों को चेताया भी। उन्होंने कहा कि बिहार के साथ गलत करने वालों को बख्शा नहीं जाएगा। उन्होंने यह भी कहा कि इफ्तार शुरू से ही हम लोगों की परंपरा रही है। हमलोग हर साल इफ्तार देते हैं। इफ्तार देने का मुख्य मकसद रोजेदारों को सम्मान देना है। इफ्तार, इबादत है और गंगा-जमुनी संस्कृति की पहचान है। जिन लोगों ने माहौल बिगाड़ने की कोशिश की थी, उनके घरों की कुर्की हो रही है। तमिलनाडु में जिनकी साजिश थी। उनका भी भंडाफोड़ हुआ है। जो लोग अमन-चैन छीनने की कोशिश करेंगे और बिहार पर बुरी नजर डालेगा। उस पर सख्त कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

इफ्तार समारोह में पहुंचे पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने कहा कि बीजेपी अपना भगवा झंडा उड़ाते रहे। सब लोग मिलकर अल्लाह से दुआ मांगते हैं। बता दें कि एक दिन पहले ही जीतनराम मांझी ने कहा था कि बीजेपी वालों का दिमाग खराब हो गया है। 2024 में बीजेपी खत्म हो जाएगी। दूसरी ओर, जाप सुप्रीमो पप्पू यादव ने कहा कि यह कार्यक्रम लोगों के लिए एक संदेश है। समाज में मिलजुल कर रहना हमारी संस्कृति है। चिराग पासवान ने कहा कि बेटी के जन्म के बाद से तेजस्वी यादव को मिलकर बधाई नहीं दे पाया था। इस मौके पर उनसे मिलकर बधाई दी। नीतीश कुमार के पैर छूने के सवाल पर चिराग पासवान ने कहा कि यह मेरा संस्कार है कि जब मैं उनसे मिलता हूं तो पैर छूकर आशीर्वाद लेता हूं।

बता दें कि तेजस्वी यादव भूरे रंग के पठान सूट और गोल हरी टोपी पहने हुए थे और उन्होंने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को भूरे रंग की टोपी पहनाकर स्वागत किया। इफ्तार पार्टी में तमाम मंत्री शामिल हुए। राबड़ी आवास पर आयोजित इफ्तार पार्टी में चना की घुघनी, बैगनी, कचड़ी, पियाजू, रूह अफजा की शरबत, खजूर, क्रीम चॉप, इमरती के अलावा फलों में अंगूर, सेव, पपीता, तरबूज आदि के इंतजाम किये गये थे।

मालूम हो कि पिछले साल भी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ बीजेपी के भी कई नेता राबड़ी आवास पर आयोजित इफ्तार पार्टी में शामिल हुए थे, उस समय नीतीश कुमार एनडीए में ही थे। हालांकि, इस बार बीजेपी किसी भी इफ्तार पार्टी में शामिल नहीं हो रही है, साथ ही उसके नेता इफ्तार पार्टी में शामिल होने वालों पर तंज भी कस रहे हैं। दूसरी ओर, चिराग पासवान के तेजस्वी मिलने को लेकर सियासी हलचल तेज हो गयी है। बता दें कि आज ही पशुपति कुमार पारस ने चिराग पर तंज कसते हुए कहा कि वह मेरा भतीजा नहीं है, उनके बारे में मीडिया सवाल नहीं पूछे।

Previous articleकास्ट सेंसस के बीच जानिए लोहार जाति को, यह लोहा गलाना भी जानती है और फोर्जिंग-टेंपरिंग करना भी
Next articleसतुआन का विज्ञान : आम के चटनी, प्याज, अचार; सतुआ खाईं पलथी मार

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here