VARANASI (MR) : महाशिवरात्रि (Mahashivratri 2021) का काउंट डाउन शुरू है। 11 मार्च को महाशिवरात्रि है। चंद घंटे के बाद यह शुरू हो जाएगा। इसके पहले आप यह जान लें। इस बार 100 साल के बाद दुर्लभ संयोग है। हालांकि यह दुर्लभ संयोग अभी 10.36 बजे से शुरू हो गया है। जिसका महत्व कल गुरुवार को काफी बढ़ जाएगा। 

11 मार्च को है भोले बाबा की शादी

महाशिवरात्रि गुरुवार (11 मार्च) को है। इस साल कई दुर्लभ संयोग बन रहे हैं। महाशिवरात्रि पर श्रवण-धनिष्ठा नक्षत्र के साथ शिव योग और सिद्धि योग भी बन रहे हैं। ज्योतिषाचार्यों के अनुसार, करीब 100 साल बाद ऐसे दुर्लभ संयोग आने से महाशिवरात्रि का महत्व काफी बढ़ गया है। यह पर्व इस बार 23 घंटे का है। नक्षत्र धनिष्ठा 11 मार्च को रात 09 बजकर 45 मिनट तक रहेगा। उसके बाद शतभिषा नक्षत्र लग जाएगा। 

आज से ही शुरू हो गया शिव योग

आज 10.36 बजे से ही शिव योग शुरू हो गया है। यह कल महाशिवरात्रि के दिन सुबह 09.24 बजे तक रहेगा। इसके बाद सिद्ध योग शुरू हो जाएगा। जो गुरुवार को पूरा दिन रहेगा और इसका समापन शुक्रवार को सुबह 8.29 बजे तक रहेगा। इसी तरह, हिंदू पंचांग के अनुसार 11 मार्च को चतुर्दशी तिथि दोपहर 02.39 बजे से शुरू होकर 12 मार्च शुक्रवार को दोपहर 03.02 बजे तक रहेगी। 

जान लें पूजा के चार प्रहर

ऐसे में महाशिवरात्रि के दिन पूजा का प्रथम प्रहर 11 मार्च को शाम 6.27 बजे से लेकर रात 9.29 बजे तक रहेगा। द्वितीय प्रहर रात 9.29 बजे से लेकर 12.31 बजे तक रहेगा। शिव पूजा का तृतीय प्रहर रात 12.31 बजे से लेकर सुबह 03.32 बजे तक रहेगा। इसके अलावा चतुर्थ प्रहर 12 मार्च को तड़के 03.32 बजे से लेकर सुबह 06.34 बजे तक रहेगा।

Previous articleगली के सितारे 5 : JEE Mains 2021 में बिहार का साकेत झा देश भर में टॉपर, कहा- सेल्फ स्टडी से बढ़कर कुछ भी नहीं
Next articleBihar Budget Session 2021 : सदन में मंत्री सम्राट चौधरी की बड़ी घोषणा, पंचायतों में बनेंगे बड़े-बड़े पार्क तो गांवों में अशोक भवन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here