पटना। लॉकडाउन के बाद भी बिहार में जल-जीवन-हरियाली का काम नहीं रुकेगा। प्रमंडलों को राशि मिल गई है। विभाग ने अधिकारियों व ठेकेदारों को काम समय पर पूरा करने को कहा है। जल संसाधन विभाग के अपर सचिव गोपाल मीणा ने प्रमंडल के अधिकारियों को इस संबंध में कई निर्देश दिए।

दरअसल, बिहार में लॉकडाउन के बाद भी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की महत्वाकांक्षी जल-जीवन-हरियाली योजना का काम चल रहा है। लघु जल संसाधन विभाग के हिस्से में 799 योजनाएं हैं। इन योजनाओं में काम चालू हैं। ये ऐसी योजनाएं हैं, जिनसे पर्यावरण संरक्षण को तो लाभ है ही, इससे किसानों को भी मदद मिल रही है।

विभाग के अपर सचिव गोपाल मीणा की मानें तो सभी प्रमंडलों को जल-जीवन-हरियाली के अंतर्गत ली गई योजनाओं के लिए राशि का भुगतान हो गया है, ताकि काम समय पर पूरा हो सके। काम समय पर पूरा करने के​ लिए उन्होंने संवेदकों (ठेकेदारों) एवं विभागीय अधिकारियों को चेतावनी भी दी गई है।

उन्होंने मीडिया से बात करते हुए कहा कि मजदूर, संवदेक व अधिकारी कार्य स्थल पर लॉकडाउन के प्रावधानों का भी सख्ती से पालन करें। उन्होंने बताया कि पोखर, तालाब, आहर-पईन, बीयर का इन योजना से कायाकल्प एवं निर्माण हो रहा है। इसके लिए अधिसंख्य योजनाएं हैं। इतना ही नहीं, योजनाओं को टाइमली पूरा करने के लिए समय-सीमा तय कर दी गई है। उन्होंने यह भी बताया कि भोजपुर के डोमन-डीहरा आहर-पईन की सफाई के दौरान निकाली गई मिट्टी से तटबंध की मरम्मत की जा रही है। वहां पर पौधारोपण के लिए अलग से राशि का प्रावधान किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here