PATNA (MR) : मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने साफ-साफ शब्दों में कह दिया है कि धान अधिप्राप्ति से कोई भी इच्छुक किसान वंचित नहीं रहे। इसे लेकर उन्होंने विभाग के सभी वरीय अधिकारियों को कड़े निर्देश दिए हैं। उन्होंने इस बात पर खुशी जताई कि इस बार पूर्व के वर्षों की तुलना में धान की रिकॉर्ड खरीद हुई है, जो कि हमारे लिए खुशी की बात है।

दरअसल, पटना में शनिवार को 1 अणे मार्ग स्थित नेक संवाद में खरीफ विपणन मौसम 2020-21 में धान अधिप्राप्ति से संबंधित समीक्षा बैठक हुई। इसमें मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के अलावा खाद्य एवं उपभोक्ता मंत्री लेसी सिंह व सहकारिता मंत्री सुबाष सिंह समेत मुख्य सचिव दीपक कुमार व अन्य अधिकारी मौजूद रहे। बैठक में खाद्य एवं उपभोक्ता संरक्षण विभाग के सचिव विनय कुमार एवं सहकारिता विभाग की सचिव बंदना प्रेयसी ने धान खरीद की अपडेट स्थिति की डिटेल्स जानकारी दी। उन्होंने धान अधिप्राप्ति में किसानों की अद्यतन संख्या, जिलावार अधिप्राप्ति के लक्ष्य के विरूद्ध उपलब्धि, धान अधिप्राप्ति के अद्यतन वित्तीय पक्ष के साथ-साथ धान अधिप्राप्ति से जुड़े अन्य बिंदुओं के बारे में बताया।

उन्होंने कहा कि राज्य में उत्पादन और उत्पादकता बढ़ी है। हर क्षेत्र की अलग-अलग उत्पादन क्षमता है। अगले वर्ष धान खरीद के लक्ष्य के लिए क्षेत्रवार रियलिस्टिक एसेसमेंट कराएं, ताकि और अधिक धान की खरीद हो। धान खरीद का कार्य भी ससमय शुरू हो सके। उन्होंने कहा कि बचे हुए किसानों का आकलन कराएं और क्षेत्र में धान की उपलब्धता का भी आकलन करें। कोई भी इच्छुक किसान धान अधिप्राप्ति से वंचित न रहे। उन्होंने कहा कि रैयत किसानों के साथ-साथ गैर रैयत किसानों से भी काफी मात्रा में धान खरीद की गयी है, इससे गरीब किसानों को अपने धान का उचित मूल्य मिल रहा है, यह खुशी की बात है।

Previous articleUP Panchayat Election 2021 : यूपी पंचायत चुनाव 2021 को लेकर रिजर्वेशन प्रॉसेस शुरू, यहां जानें क्या है पूरा शेड्यूल
Next articleसिंगर सपना चौधरी के गाने पर मचा बवाल, सस्पेंड हो गए प्रिंसिपल समेत 12 सहायक प्रोफेसर; महिला टीचर पर भी एक्शन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here