PATNA (MR) : बिहार पंचायत चुनाव के आठवें चरण में भी जबरदस्त बदलाव के लहर देखे गए। RJD प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह के इलाके में 75 परसेंट मुखिया चुनाव हार गए। कैमूर के रामगढ़ प्रखंड में 12 में से 9 पंचायतों में मुखिया पद पर नए चेहरे आ गए। रामगढ़ विधानसभा क्षेत्र में यह प्रखंड आता है। यहां के विधायक जगदानंद सिंह के पुत्र सुधाकर सिंह हैं। 

रामगढ़ के नगर पंचायत बनने के बाद गठित नई पंचायत अकोढ़ी की पहली मुखिया बनने का गौरव अंजू देवी ने हासिल की। अकोढ़ी पहले की बंदीपुर पंचायत का हिस्सा है। अंजू के पति राजन हर्षवर्धन बंदीपुर से दो बार मुखिया रह चुके हैं। इधर सदुल्लहपुर-डरवन पंचायत में निर्वाचित मुखिया अंबिका बिंद ने योगेंद्र सिंह को बेहद नजदीकी मुकाबले में महज पांच मतों से हराकर लगातार तीसरी बार मुखिया बने। इधर बड़ौरा पंचायत के मुखिया पप्पू पासी ने भी जबरदस्त वापसी की। पप्पू ने प्रखंड में सबसे बड़ी जीत हासिल की।  इन्होंने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी को 1890 मतों से हराया। इसी तरह, देवहलियां पंचायत में भी उषा देवी ने दोबारा जीत दर्ज की। उन्होंने भगवती कुंवर को हराया। 

इनके अलावा शेष नौ पंचायतों में मतदाताओं ने पुराने मुखियों को नकार दिया। सिसौड़ा पंचायत में प्रदीप कुमार सिंह  ने सच्चिदानंद उपाध्याय को 325 मतों से हराया। महुअर में बेचन शर्मा ने पुरानी मुखिया निर्मला देवी को 1072 वोट से हराया। मसाढ़ी में अंजनी कुमार मिश्रा ने 58 मत से जीत का परचम लहराया। नरहन जमुरना में जयप्रकाश तिवारी ने पुराने मुखिया संजय सिंह को 379 मतों से हराया। सहुका में मनोज राम ने रामलाल को 305 वोट से हराया। नोनार में शिक्षक जितेंद्र राम की पत्नी वंदना कुमारी ने गुजरावती देवी को 399 वोटों से शिकस्त दी। अहिवास में पार्वती देवी ने संजू देवी को 180 वोटों से हराया। सिझुआं पंचायत में गीता देवी ने लीलावती देवी को 85 मतों से हराया।

Previous articleबिहार पंचायत चुनाव की मतगणना से ठीक पहले गया में पंसस प्रत्याशी के पति की हत्या, घटना से मची सनसनी; विरोध में सड़क जाम
Next articleMukhiya Chunav Bhojpur : बिहार के भोजपुर में दादी बन गयी ‘दादा’, अपने पोते को हराकर बनीं मुखिया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here