PATNA (MR) : बिहार में पंचायत चुनाव के बाद अब जिला परिषद अध्यक्ष-उपाध्यक्ष और प्रखंड प्रमुख का दौर शुरू हो गया है। नए साल 2022 के 3 जनवरी तक जनप्रतिनिधियों का चुनाव पूरा कर लेना है। 

बिहार में जिला परिषदों के अध्यक्ष व उपाध्यक्ष पदों के अब तक आए रिजल्ट में जमुई ने इतिहास रच दिया। अब तक राजनीतिक दलों के बीच तालमेल होता रहा है, लेकिन जमुई में घालमेल की राजनीति हो गयी। इस घालमेल की राजनीति में सिकंदरा के गुड्डू यादव किंगमेकर बन कर उभरे हैं। 

घालमेल का ही परिणाम रहा कि जमुई से दोनों पदों का निर्विरोध परिणाम आया। जमुई से जिला परिषद के अध्यक्ष भी निर्विरोध चुने गए और उपाध्यक्ष भी निर्विरोध बने। जमुई से अध्यक्ष पद पर दुलारी देवी और उपाध्यक्ष पद पर राकेश पासवान निर्विरोध निर्वाचित हुए। दुलारी देवी गुड्डू यादव की पत्नी हैं और वह जिला पार्षद भी निर्विरोध बनी थीं। जबकि राकेश पासवान के पिता जिला पार्षद रह चुके हैं। 

दरअसल, जमुई जिला से जिप सदस्यों की संख्या 20 है। यहां से चार विधायक हैं।जमुई सीट बीजेपी के खाते में है। यहां से बीजेपी की श्रेयसी सिंह विधायक हैं। सिकंदरा सीट हम पार्टी के पास है। यहां से प्रफुल्ल कुमार मांझी विधायक बने हैं। इसी तरह चकाई से निर्दलीय सुमित कुमार सिंह, जबकि झाझा से जेडीयू के दामोदर रावत जीते हैं। हालांकि निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में जीते सुमित कुमार सिंह बिहार सरकार में मंत्री हैं और उनका जेडीयू को पूरा समर्थन है। जबकि, शेखपुरा के आरजेडी विधायक विजय सम्राट भी इसे लेकर जमुई पहुंचे थे। 

जमुई समाहरणालय के संवाद कक्ष में मंगलवार 28 दिसंबर को जिला परिषद के नवनिर्वाचित सदस्यों के शपथ ग्रहण के साथ अध्यक्ष और उपाध्यक्ष का चुनाव भी हुआ। खास बात यह रही कि अध्यक्ष पद पर दुलारी देवी और उपाध्यक्ष पद पर राकेश पासवान निर्विरोध निर्वाचित घोषित किए गए। जिला निर्वाचन पदाधिकारी सह जिलाधिकारी अवनीश कुमार सिंह ने जिप सदस्यों के शपथ ग्रहण और अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष पद के लिए कराए गए चुनाव के बाद दोनों को प्रमाण पत्र सौंपा। सभी को राज्य निर्वाचन आयोग की गाइड लाइंस के अनुसार, शपथ दिलायी गयी। 

शपथ ग्रहण के उपरांत अध्यक्ष पद के लिए एकमात्र उम्मीदवार दुलारी देवी ने नामांकन पत्र दाखिल कियाl कुछ ऐसा ही हाल उपाध्यक्ष पद के लिए रहा। उपाध्यक्ष पद के लिए एक मात्र उम्मीदवार राकेश कुमार पासवान ने नामांकन किया. दोनों पदों पर निर्धारित समय के अनुसार किसी के नामांकन नहीं किये जाने के बाद दुलारी देवी और राकेश पासवान को निर्विरोध निर्वाचित घोषित कर दिया गया। 

गौर​तलब है कि सिकंदरा प्रखंड जिला परिषद क्षेत्र से इस बारद दुलारी देवी लगातार तीसरी बार जिला पार्षद चुनी गई हैं। वह जिला परिषद सदस्य भी निर्विरोध ही बनी हैं।वहीं राकेश पासवान चकाई प्रखंड से जिला पार्षद चुने गए हैं. राकेश के पिता भी जिला पार्षद रह चुके हैं. सूत्रों की मानें तो शपथ ग्रहण और अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष पद के चुनाव को लेकर समाहरणालय के इर्द-गिर्द तमाम राजनीतिक दलों के समर्थक मौजूद रहे. वे सब पल-पल की जानकारी ले रहे थे। लेकिन निर्विरोध चुनाव ने जमुई जिला में इतिहास रच दिया. सूत्रों की मानें तो जमुई के सियासी गलियारे में दुलारी देवी के पति गुड्डू यादव को लोग ‘किंगमेकर’ बता रहे हैं. सौहार्दपूर्ण माहौल में चुनाव से स्थानीय लोग सुकून महसूस कर रहे हैं. 

Previous articleपटना आ रहे गरीब-गुरबों के लिए बड़ी खबर, 15 रुपये में मिल रहा है भरपेट भोजन
Next articleBook Review : अब न अंगूठा छाप में 36 लघुकथाएं, सब एक से बढ़कर एक; अंतर्मन को छूता बिहार

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here