PATNA (MR) : बिहार पंचायत चुनाव 2021 (Bihar Panchayat Chunav 2021) को लेकर गांवों में सरगर्मी तेज हो गयी है। 11 चरणों में इस बार चुनाव कराए जा रहे हैं। पहले चरण के नामांकन की डेडलाइन खत्म हो गयी है। दूसरे चरण के चुनाव का नामांकन जारी है। चुनाव संबंधी कार्यों में मोबाइल एप महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है।

दरअसल, बिहार में हो रहे त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में वोटरों के लिए सुलभ व आसान प्रक्रिया से गुजरने के लिए निर्वाचन आयोग ने मोबाइल एप गरुड़ लाया है। इस नए एप के लिए प्रखंडों में सभी बीएलओ को प्रशिक्षित किए जा चुके हैं। इस नवीन तकनीक के माध्यम से एक क्लिक में चुनाव संबंधी सारी जानकारी वोटरों को मिल जाएगी। 

इस गरुड़ एप के माध्यम से अब हर मतदाता की टैगिंग की जा सकती है। एप के जरिए पोलिंग बूथ की व्यवस्था में सुधार के साथ online प्रक्रिया होने से दस्तावेजों के प्रयोग में होने वाली परेशानियों से बचा जा सकेगा। मतदाता सूची के साथ अब हर जानकारी डिजिटल रूप में कर्मियों के पास रहेगी। 

एप से मिलेंगी ये सुविधाएं

  • चुनावी गतिविधियां हो जायेंगी आसान। 
  • पोलिंग बूथ की व्यवस्था में सुधार संभव। 
  • दस्तावेजों के प्रयोग में नहीं होगी परेशानी। 
  • निर्वाचन संबंधी कार्यों में मिलेगी सुविधा। 
  • बीएलओ मतदाता और उनके घर की कर सकेंगे जियो टैगिंग।
  • चुनाव संबंधी अन्य महत्वपूर्ण कार्य भी होंगे सहज। सरलता से कर सकेंगे।

क्या है एप की विशेषता

गरुड़ एप में मतदान केंद्र पर मौजूद 25 तरह की सुविधाओं के टैगिंग की जा सकती है। मतदाता के घर, सदस्यों की संख्या जैसे कई महत्वपूर्ण जानकारियां अब इस एप के माध्यम से फिट की जा सकेंगी। मतदाता भी बड़ी सरलता से  मतदान केंद्र और अपना वोटर क्रमांक पता कर सकेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here