PATNA (MR)। बिहार पुलिस पर बढ़ते क्राइम को लेकर तरह-तरह के आरोप लगते रहे हैं। पॉजिटिव रिजल्ट नहीं आने पर कुछ आरोप सही भी प्रतीत होते हैं। लेकिन बक्सर में बिहार पुलिस ने अपहरण के महज 24 घंटे के अंदर दूधमुंहे बच्चे को ढूंढ निकाला, जिसकी प्रशंसा करते लोग थक नहीं रहे हैं। बच्चा को आरा से बरामद किया गया। बिहार पुलिस की खूब तारीफ हो रही है। खासकर बक्सर के एसपी की वाहवाही करते लोग थक नहीं रहे हैं।

दरअसल, बक्सर के शहरी इलाके से महज 18 माह के दूधमुंहे बच्चे का बदमाशों ने अपरहण कर लिया था। घटना रविवार की शाम में हुई थी। घटना के बाद से घर में कोहराम मच गया। बच्चे के पिता मठिया मुहल्ला निवासी विष्णु यादव की हालत खराब हो गई। मां का भी रो-रोकर बुरा हाल हो गया था। घर वाले परेशान थे। उन लोगों को कुछ सूझ नहीं रहा था कि क्या करें।

एसपी उपेंद्र नाथ वर्मा के अनुसार, तमाम खोजबीन के बाद भी बच्चे का पता नहीं चल रहा था। पुलिस के समझ बड़ी चुनौती थी। बच्चे को बरामद करना और वह भी पूरी तरह सुरक्षित। इसी बीच अपहर्ताओें ने फिरौती में घरवालों को फोनकर 75 लाख रुपये मांगे। घरवालों के होश उड़ गए। इतनी मोटी रकम आएगी कहां से।

इसकी जानकारी मिलते ही पुलिस की पूरी टीम अलर्ट हो गई। फूंक-फूंक कर कदम बढ़ाने लगी। जिले के सभी थानों को भी अलर्ट कर दिया। बक्सर के सभी पड़ोसी जिलों के थानों को भी अलर्ट करते हुए बच्चे का फोटो भेज दिया। रात में ही जिले की नाकेबंदी कर दी गई। इसी बीच पुलिस को बच्चे के आरा में होने की जानकारी मिल गई।

एसपी के अनुसार, आरा में बच्चे के होने की सूचना के बाद पूरी गोपनीयता बरती गई और बड़ी ही बारीकी से आगे की कार्रवाई की गई, ताकि बच्चे को कोई नुकसान नहीं पहुंचे। और अंत में बच्चे को सोमवार की शाम में सुरक्षित बरामद कर लिया। एक अपहर्ता को गिरफ्तार कर लिया गया है। बाकी की तलाश में छापेमारी की जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here