दिल्ली। कोरोना संकट को लेकर पूरे देश में लॉकडाउन लागू है। रोजी-रोजगार से लेकर उद्योग-धंधे पर इसका व्यापक असर पड़ा है। इसे लेकर केंद्र सरकार काफी चिंतित है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खुद पूरे देश पर नजर रखे हुए हैं। शनिवार को उन्होंने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह व केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण समेत अन्य सीनियर अधिकारियों के संग बैठक की। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, आर्थिक मामलों से जुड़े अन्य मंत्रियों के साथ भी सिलसिलेवार बैठकें हुईं। इसमें लॉकडाउन से प्रभावित सेक्टरों के दूसरे राहत पैकेज पर विमर्श हुआ।

बताया जाता है कि सूक्ष्म, लघु और मंझोले उद्योगों पर व्यापक चर्चा हुई। वित्त मंत्रालय की ओर से इस संबंध में प्रजेंटेशन भी दिखाया गया। अब इस बारे में प्रधानमंत्री मोदी को देश की आर्थिक स्थिति के बारे में जानकारी दी जाएगी। उन्हें अर्थव्यवस्था को प्रोत्साहित करने के लिए उठाए जाने वाले कदमों के बारे में भी बताया जाएगा।

गौरतलब है कि इससे पहले शुक्रवार को नागर विमानन, श्रम और ऊर्जा मंत्रालयों के साथ भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बैठक हुई थी। पीएम मोदी ने गुरुवार को भी बैठक की थी। गुरुवार को हुई बैठक में वाणिज्य तथा सूक्ष्म, लघु और मंझोले उद्योग से जुड़े मंत्रालयों के मंत्रियों व अधिकारियों ने शिरकत की थी। बताया जाता है कि इसमें मुख्य रूप से घरेलू एवं विदेशी निवेशकों को आकर्षित करने की रणनीति पर चर्चा हुई। देश में छोटे कारोबार को फिर से शुरू किया जाय, इस पर मनन हुआ। सूत्रों ने बताया कि सरकार गरीब एवं वंचित वर्गों के लिए जल्द ही एक और राहत पैकेज की घोषणा कर सकती है। इसके अलावा सरकार औद्योगिक क्षेत्र के लिए भी कोई पैकेज दे सकती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here