SAMASTIPUR (MR)। बिहार के समस्तीपुर में छा गए मुखियाजी। क्वारंटाइन सेंटर में ही करा दिया रंगारंग कार्यक्रम। जी हां, सही पढ़ रहे हैं। क्वारंटाइन सेंटर में प्रवासियों की उदासी मुखियाजी से नहीं देखी गयी। बस आदेश दे दिया। क्वारंटाइन सेंटर में ही सज गई महफिल। देर रात तक चला गानों का दौर।

दरअसल, समस्तीपुर के विभूतिपुर प्रखंड के देसरी कर्रख में क्वारंटाइन सेंटर बनाया गया है। वहां पहले से वहां रजिस्टर्ड 87 प्रवासी ठहरे हुए थे। 15 प्रवासी नए आ गए। नए आने प्रवासी प्रोफेशनल कलाकार हैं। लॉकडाउन मेंं कारोबार बंद होने को लेकर सभी प्रवासी उदास व दुखी थे। इसकी जानकारी वहां के मुखिया को मिली। फिर क्या था, कार्यक्रम फाइनल हुआ और सोमवार की रात दो घंटे के शो में गीतों की रसधार बही।

लेकिन अब उस पर सवाल उठने लगे हैं। सोशल डिस्टेंसिंग को लेकर सवाल हो रहे हैं। इसे लेकर अंचलाधिकारी उदयकांत मिश्र ने सेंटर प्रभारी से शोकॉज पूछा है। वहीं, इस संबंध में मुखिया ललन पासवान ने सफाई दी। कहा कि कलाकार भी इन्हीं प्रवासियों में से थे। क्वारंटाइन सेंटर पर सब उदास थे। इसमें कोई बाहरी नहीं थे। इन सबों को थोड़ा मन लगे, इसलिए कार्यक्रम करने को कहा गया।

Previous articleप्रवासी पैदल और छिपकर न आएं, क्वारंटाइन सेंटरों को सहयोग करें किसान सलाहकार-पंच
Next articleबिहार में 20 मई से ऑटो-ई रिक्‍शा का परिचालन शुरू, ऑड-ईवन सिस्‍टम होगा लागू

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here