PATNA / SIWAN (MR) : बिहार प्रदेश मुखिया महासंघ के आह्वान का असर सीवान में भी देखने को मिला। पूरे बिहार की तरह सीवान जिला में भी मुखिया संघ की ओर से सभी प्रखंडों में आज मंगलवार 29 अगस्त को धरना दिया गया। जिला मुखिया महासंघ के अध्यक्ष अजय भास्कर चौहान ने कहा कि आज सभी मुखिया का दुश्मन बना बैठा है। आए दिन मुखिया की हत्याएं की जा रही हैं। इसके बाद भी मुखियाओं को आर्म्स का लाइसेंस नहीं दिया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि सभी मुखिया को 10 हजार, उप मुखिया को 7.5 हजार और वार्ड सदस्य को 5 हजार रुपए मासिक वेतन भत्ता देने की मांग सरकार से की गयी है। इसके अलावा मुखियाओं के अधिकारों की लगातार कटौती की जा रही है। इसी के विरोध में सूबे के सभी मुखियाओं ने हड़ताल के साथ-साथ कार्य का बहिष्कार भी किया है।

उन्होंने कहा कि 73वें संविधान संशोधन के तहत प्रदत्त 29 अधिकारों को पूर्ण रूप से ग्राम पंचायत को सौंपने, ग्राम सभा की रक्षा के लिए पारित निर्णय का अनुपालन सुनिश्चित करने, ग्राम सभा में चयनित योजनाओं को प्राथमिकता देने, सरकार का ग्राम सभा में अनावश्यक हस्तक्षेप बंद करने, मुख्य मंत्री सोलर स्ट्रीट लाइट योजना को ग्राम पंचायत को सौंपने, पंचायत सरकार भवन निर्माण का जिम्मा ग्राम पंचायत को देने, ग्राम पंचायत प्रतिनिधियों के वेतन भत्ता में बढ़ोतरी, मुखिया के सुरक्षा को लेकर आर्म्स लाइसेंस निर्गत करने, बंद पड़े कबीर अंत्येष्टि योजना को चालू करने आदि हमारी मांगे हैं।

धरना में जिला के सभी प्रखंड के मुखिया, मुखिया महासंघ के जिला अध्यक्ष अजय भास्कर चौहान, चंदन सिंह, अमित सिंह, शरफुद्दीन, बिपिन सिंह, गुड्डू सिंह सहित स्थानीय जनप्रतिनिधि और अन्य शामिल हुए। गौरतलब है कि प्रदेश अध्यक्ष मिथिलेश कुमार राय के आह्वान पर पूरे बिहार में मुखियाओं की यह हड़ताल चल रही है। 31 अगस्त को हड़ताल समाप्त होगी। इसके बाद आगे की रणनीति तय होगी।

Previous articleपटना को चकाचक करने के लिए लगातार अलख जगा रही हैं फोक सिंगर नीतू नवगीत
Next articleपंच-सरपंच ने दी आंदोलन की धमकी, शिक्षक दिवस पर प्रखंडों में होगा विशाल धरना; अध्यक्ष बोले- हम किसी के गुलाम नहीं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here