DELHI (MR) : लियोनल मेसी का वर्ल्ड चैंपियन बनने का सपना पूरा हो गया। अर्जेंटीना ने आज रविवार को खेले गए फीफा वर्ल्ड कप फाइनल में फ्रांस को पेनल्टी शूट आउट में 4-2 से हरा दिया। तय 90 मिनट तक दोनों टीमें 2-2 की बराबरी पर ही रुक गयी थी। एक्स्ट्रा टाइम के बाद मुकाबला 3-3 की बराबरी पर रहा था। 

इसके बाद पेनल्टी शूटआउट से फैसला हुआ। फाइनल में मेसी ने दो गोल किए। वहीं, फ्रांस के लिए किलियन एमबाप्पे ने हैट्रिक जमाई। अर्जेंटीना ने 36 साल बाद वर्ल्ड कप जीता है। इससे पहले उसे 1986 में खिताबी कामयाबी मिली थी। टीम 1978 में पहली बार चैंपियन बनी थी।

पेनल्टी शूटआउट का रोमांच देखिए 

*1-0 : फ्रांस के कीलियन एम्बाप्पेल ने लेफ्ट कॉर्नर में गोल दागा।* 

*1-1 : अर्जेंटीना के लियोनल मेसी ने लेफ्ट साइड गोल दागा।* 

*1-1 : फ्रांस के किंग्स्ले कॉमान का शॉट अर्जेंटीना के गोलकीपर ने मार्टीनेज ने रोक लिया।*

*2-1 : अर्जेंटीना के पाउलो डीबाला ने गोल दागा।*

*2-1 : फ्रांस के औरेलियन चौमेनी पेनल्टी मिस कर गए।*

*3-1 : अर्जेंटीना के लीएंड्रो पेरेडस ने गोल दागा।* 

*3-2 : फ्रांस के रांडल कोलो मुआनी ने गोल दागा।*

*4-2 : अर्जेंटीना के गोंजालो मोंटिएल ने गोल दागकर अर्जेंटीना को 36 साल बाद फीफा वर्ल्ड कप का चैंपियन बना दिया।

दोनों देशों के बीच  90 मिनट तक स्कोर लाइन 2-2 से बराबर थी। इसके बाद मैच एक्स्ट्रा टाइम में गया। एक्स्ट्रा टाइम में दोनों टीमों ने 1-1 गोल दागे। 90 मिनट में दोनों टीमों से 4 गोल आए थे। अर्जेंटीना के लिए फर्स्ट हाफ के 23वें मिनट में लियोनल मेसी और 36वें मिनट में एंजल डी मारिया ने गोल दागे। वहीं, फ्रांस के कीलियन एम्बाप्पे ने 97 सेकेंड में 2 गोल दागकर स्कोर लाइन 2-2 से बराबर कर दी। एम्बाप्पे ने 80 मिनट में पेनल्टी से और 81वें मिनट में फील्ड गोल दागा

मैच के 21वें मिनट में अर्जेंटीना के एंजल डी मारिया फ्रांस के पेनल्टी बॉक्स की ओर बॉल लेकर दौड़े। वह लेफ्ट विंग से दौड़ लगाकर बॉक्स के अंदर पहुंचे। लेकिन, फ्रांस के ओस्मान डेम्बेले ने उन पर फाउल कर दिया। फाउल के बाद रेफरी ने अर्जेंटीना को पेनल्टी दे दी। लियोनल मेसी ने 23वें मिनट में पेनल्टी पर शॉट मारा। बॉल नेट के बॉटम राइट कॉर्नर में गई और अर्जेंटीना 1-0 से आगे हो गया।। इस गोल के साथ ही मेसी के टूर्नामेंट में 6 गोल हो गए हैं। वह टूर्नामेंट में सबसे ज्यादा गोल करने वाले प्लेयर बन गए।

शुरुआती बढ़त के बाद भी अर्जेंटीना ने फ्रांस पर अटैक करना जारी रखा। 35वें मिनट में अर्जेंटीना के लियोनल मेसी राइट विंग से बॉल लेकर दौड़े। उन्होंने फ्रांस के पेनल्टी बॉक्स में साथी प्लेयर मैक एलिस्टर को पास दिया। मैक एलिस्टर ने उसी वक्त एंजल डी मारिया को बॉल दिया। 36वें मिनट में फ्रांस के गोलकीपर ह्यूगो लॉरिस डी मारिया की तरफ दौड़े। लेकिन, डी मारिया ने इतने में गोल की तरफ शॉट मार दिया। बॉल सीधा नेट में गई और स्कोर अर्जेंटीना के फेवर में 2-0 हो गया। दूसरे हाफ में फ्रांस ने दबदबा बनाया। फ्रांस के खिलाड़ी कीलियन एम्बाप्पे ने सेकेंड हाफ के 80 और 81वें मिनट में दो गोल मारे। दूसरे हाफ में दोनों टीमों ने गोल की तरफ 6 शॉट मारे, लेकिन फ्रांस ही 2 बार शॉट्स को गोल में कन्वर्ट कर सका। दूसरे हाफ में अर्जेंटीना ने 2 और फ्रांस ने 3 कॉर्नर लिए। लेकिन अंतिम में मेसी ने कमाल कर दिया। इस तरह अर्जेंटीना चैंपियन बन गयीं। 

Previous articleआचार्य नंदलाल बसु : भारतीय आधुनिक कला के प्रणेता, बिहार से बंगाल तक के मास्टर मोशाय
Next articleनगर निकाय चुनाव: बिहार के बिहिया में पति-पत्नी के साथ चाची भी जीत गयी, कहा- खूब होगा विकास

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here