PATNA (MR) : पश्चिमी नेपाल में शुक्रवार की आधी रात को जोरदार भूकंप आया। इसमें अब तक 130 से अधिक लोगों की मौत हुई है और सैकड़ों लोग घायल हुए हैं। मरने वालों की संख्या बढ़ भी सकती है।

भूकंप से कई घर ध्वस्त हो गए हैं। नेपाली अधिकारियों के अनुसार, सबसे अधिक जाजरकोट जिले में भी अब तक 90 से अधिक लोगों की मौत हुई है, जबकि रुकुम पश्चिम में अब तक 36 लोगों की मौत हुई है।

नेपाल के राष्ट्रीय भूकंप मापन केंद्र के अधिकारियों के अनुसार, रात 11.32 बजे भूकंप आया, जिसका केंद्र जाजरकोट में जमीन के नीचे 10 किलोमीटर की गहराई में था। भूकंप का असर भारत और चीन में भी महसूस किया गया। भारत में भी करीब 40 सेकंड तक झटके महसूस किए गए। इसे दिल्ली से बिहार तक के इलाकों में भी महसूस किया गया। 

बता दें कि जाजरकोट काठमांडू से लगभग 500 किलोमीटर पश्चिम में है। भूकंप का झटका महसूस होते ही काठमांडू में लोग अपने घरों से बाहर निकल आए। बिहार में नेपाल बॉर्डर के सीमावर्ती इलाकों के अलावा पटना में भी लोग सड़कों पर निकल आए। इस दौरान लोग सड़कों पर डरे-सहमे दिखे।

उधर, इस भूकंप से नेपाल में भारी क्षति हुई है। भूकंप के बाद से रेस्क्यू फोर्स बचाव अभियान में जुट गयी है। अधिकारियों के अनुसार, शुक्रवार रात करीब 11.32 बजे आए भूकंप की रिक्टर स्केल पर तीव्रता 6.4 मापी गई है।

गौरतलब है कि नेपाल में समय-समय पर भूकंप आते रहता है। हिमालय की वजह से वहां भूकंप आना आम बात है। वर्ष 2015 में 7.8 तीव्रता के शक्तिशाली भूकंप ने पूरे देश का हिलाकर रख दिया था, जिसमें 12,000 से अधिक लोगों की मौत हुई थी और हजारों घर ध्वस्त हो गए थे।

Previous articleराजकमल प्रकाशन मना रहा किताबों संग दीपोत्सव, पटना ब्रांच में दे रहा भारी छूट
Next articleDiwali 2023 : यमपंचक मतलब 5 पर्वों का महासंगम, जानिए कौन-कौन त्यौहार शामिल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here